--> हिंदी में स्त्री आत्मकथाएं | stri aatmkathayen - हिंदी सारंग
Home वस्तुनिष्ठ इतिहास / स्त्री आत्मकथाएं / stri aatmkathayen

हिंदी में स्त्री आत्मकथाएं | stri aatmkathayen

हिंदी में स्त्री आत्मकथा लेखन 

हिंदी की पहली महिला आत्मकथा लेखिका जानकी देवी बजाज हैं, जिनकी आत्मकथा का नाम ‘मेरी जीवन-यात्रा’ है जो 1956 ई. में प्रकाशित हुई। उसके बाद कई महत्वपूर्ण आत्मकथाएं आई जिनमें इन लेखिकाओं नें अपनी आत्मछवियों  को उकेरा है। नीचे महत्वपूर्ण स्त्री आत्मकथाओं का कालक्रमानुसार सूची दी जा रही है-


स्त्री आत्मकथाओं की सूची (stri aatmkathaon ki list)


क्रम
लेखक
आत्मकथा
वर्ष
1.     
जानकी देवी बजाज
मेरी जीवन-यात्रा
1956
2.     
अमृता प्रीतम
1. रसीदी टिकट
1976
2. अक्षरों के साये
1997
3.     
प्रतिभा अग्रवाल
1. दस्तक ज़िन्दगी की
1990
2. मोड़ ज़िन्दगी का
1996
4.     
कुसुम अंसल
जो कहा नहीं गया
1996
5.     
कृष्णा अग्निहोत्री
3. लगता नहीं दिल मेरा
1997
3. और.....और औरत
2010
6.     
पदमा सचदेवा
1. बूंद बावरी
1999
2. लता ऐसा कहां से लाऊं

7.     
शिवानी
1. सुनहु तात यह अमर कहानी
1999
2. सोने दे

3. एक थी रामरती

8.     
शीला झुनझुनवाला
कुछ कही कुछ अनकही
2000
9.     
मैत्रेयी पुष्पा
1. कस्तूरी कुंडल बसै
2002
2. गुड़िया भीतर गुड़िया
2008
10.   
रमणिका गुप्ता
हादसे
2005
11.   
सुनीता जैन
शब्दकाया
2005
12.   
मन्नू भंडारी
एक कहानी यह भी
2007
13.   
प्रभा खेतान
अन्या से अनन्या
2007
14.   
मृदुला गर्ग
राजपथ से लोकपथ पर
2008
15.   
चन्द्रकिरण सौनरेक्सा
पिंजरे की मैना
2008
16.   
अनीता राकेश
संतरे और संतरे

17.   
ममता कालिया
कितने शहरों में कितनी बार
2011
18.   
चन्द्रकान्ता
हासिये की इबारतें
2012
19.   
इस्मत चुगताई
कागजी है पैरहन

20.   
निर्मला जैन
ज़माने में हम


  • ·         राजेन्द्र यादव ने ‘देहरी भई विदेश’ (2005) में 20 लेखिकाओं के आत्मकथ्यों का संकलन किया है


यह भी पढ़ें :

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

hindisarang.com पर आपका स्वागत है! जल्द से जल्द आपका जबाब देने की कोशिश रहेगी।

to Top