--> NTA UGC NET द्वारा भाषा एवं व्याकरण से संबंधित अनुक्रम पर आधारित पूछे गए प्रश्न | UGC NET Hindi Quiz- 17 - हिंदी सारंग
Home प्रश्नपत्र / यूजीसी नेट / hindi quiz / net / nta ugc / Question Paper

NTA UGC NET द्वारा भाषा एवं व्याकरण से संबंधित अनुक्रम पर आधारित पूछे गए प्रश्न | UGC NET Hindi Quiz- 17

यूजीसी नेट हिंदी old question paper

दोस्तों यहाँ पर यूजीसी नेट जेआरएफ हिंदी की परीक्षा के क्रम आधारित प्रश्नों का सत्ररहवां भाग दिया जा रहा है। यहाँ पर 2004 से लेकर 2019 तक के ugc net हिंदी के प्रश्नपत्रों में हिंदी भाषा एवं व्याकरण के अनुक्रम संबंधित पूछे गए प्रश्नों को एक साथ दिया जा रहा है। ठीक उसी तरह जैसे अन्य विधाओं से संबंधित अनुक्रम आधारित प्रश्न दिए गए हैं।

ugc-net-hindi-old-question-paper-quiz-17
UGC NET Hindi Quiz- 17

इन प्रश्नों को हल करने के बाद आप पाएंगे कि nat ugc net hindi में हिंदी भाषा एवं व्याकरण को ही घुमा-फिराकर बार-बार पूछ लिया जाता है। इन प्रश्नों का दो-तीन बार यदि आप अभ्यास कर लेते हैं तो भाषा एवं व्याकरण से संबंधी अनुक्रम आधारित प्रश्न गलत नहीं होंगे, ज्यादा संभावना यही है की इन्हीं प्रश्नों में से ही दुबारा पूछा जाए। ugc के अलावा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं- uphesc, rpsc, hpsc, dsssb, tgt, pgt आदि के लिए भी ये प्रश्न काफी महत्वपूर्ण हैं।

यूजीसी नेट द्वारा 2004 से अब तक पूछे गए प्रश्न

1. निम्नलिखित भाषाओं के विकास का सही अनुक्रम बताइए। (दिसम्बर, 2004, II, जून, 2005, II)

(A) प्राकृत, पालि, अपभ्रंश, हिंदी

(B) पालि, प्राकृत, अपभ्रंश, हिंदी ✅

(C) पालि, अपभ्रंश, प्राकृत, हिंदी

(D) अपभ्रंश, प्राकृत, हिंदी, पालि

भाषाओं के विकास का अनुक्रम-

संस्कृत- पालि- प्राकृत- अपभ्रंश- अवहट्ट- हिंदी

 

2. हिंदी भाषा के विकास का सही क्रम है: (दिसम्बर 2012, III)

(A) पालि, प्राकृत, संस्कृत, अपभ्रंश

(B) संस्कृत, पालि, प्राकृत, अपभ्रंश 

(C) संस्कृत, अपभ्रंश, पालि, प्राकृत

(D) अपभ्रंश, संस्कृत, प्राकृत, पालि

भाषाओं के विकास का अनुक्रम-

संस्कृत- पालि- प्राकृत- अपभ्रंश- अवहट्ट- हिंदी

 

3. भाषा-निर्माण को इकाइयों का सही अनुक्रम है: (दिसम्बर, 2014, III)

(A) शब्द, ध्वनि, वाक्य, पद

(B) शब्द, वाक्य, ध्वनि, पद

(C) पद, वाक्य, ध्वनि, शब्द

(D) ध्वनि, शब्द, पद, वाक्य 


4. निम्नांकित में से उच्चारण स्थान के आधार पर कंठ से लेकर मुख विवर में उच्चरित व्यंजन ध्वनियों का सही अनुक्रम है: (दिसम्बर, 2014, III)

(A) कंठ्य, तालव्य, वर्त्स्य, दंत्य, ओष्ठ्य 

(B) तालव्य, कंठ्य, ओष्ठ्य, दंत्य, वर्त्स्य

(C) दंत्य, ओष्ठ्य, कंठ्य, वर्त्स्य, तालव्य

(D) ओष्ठ्य, वर्त्स्य, तालव्य, कंठ्य, दंत्य


5. ब्राह्मी लिपि के विकास का अनुक्रम है: (जून 2012, III)

(A) ब्राह्मी लिपि, गुप्त लिपि, कुटिल लिपि, देवनागरी लिपि 

(B) कुटिल लिपि, ब्राह्मी लिपि, गुप्त लिपि, देवनागरी लिपि

(C) ब्राह्मी लिपि, देवनागरी लिपि, गुप्त लिपि, कुटिल लिपि

(D) देवनागरी लिपि, ब्राह्मी लिपि, कुटिल लिपि, गुप्त लिपि

लिपि के विकास का अनुक्रम-

आक्षरिक लिपि- सिंधु घाटी की लिपि- ब्राह्मी लिपि- गुप्त लिपि- कुटिल लिपि (शारदा लिपि)- प्राचीन नागरी- देवनागरी लिपि

 

6. देवनागरी लिपि का सही विकास-क्रम है: (दिसम्बर, 2014, III)

(A) गुप्त लिपि, ब्राह्मी लिपि, देवनागरी लिपि, नागरी लिपि

(B) नागरी लिपि, ब्राह्मी लिपि, गुप्त लिपि, देवनागरी लिपि

(C) ब्राह्मी लिपि, गुप्त लिपि, नागरी लिपि, देवनागरी लिपि 

(D) गुप्त लिपि, नागरी लिपि, ब्राह्मी लिपि, देवनागरी लिपि

देवनागरी लिपि का विकास-क्रम-

आक्षरिक लिपि- सिंधु घाटी की लिपि- ब्राह्मी लिपि- गुप्त लिपि- कुटिल लिपि (शारदा लिपि)- प्राचीन नागरी- देवनागरी लिपि

 

7. हिंदी-प्रसार के संदर्भ में निम्नलिखित प्रमुख संस्थाओं का कालक्रम के अनुसार सही अनुक्रम कौन-सा है?

(A) दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा

(B) नागरी प्रचारिणी सभा काशी, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा 

(C) राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई

(D) दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा

अनुक्रम-

1. नागरी प्रचारिणी सभा काशी- 1893 ई.

2. हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग- 1910 ई.

3. दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई- 1915 ई.

4. राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा- 1936 ई.

 

8. निम्नलिखित संस्थाओं की स्थापना का सही अनुक्रम क्या है?

(A) हिंदी साहित्य सम्मेलन, काशी नागरी प्रचारिणी सभा, केन्द्रीय हिंदी निदेशालय, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा

(B) हिंदी साहित्य सम्मेलन, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, केन्द्रीय हिंदी निदेशालय, काशी नागरी प्रचारिणी सभा

(C) काशी नागरी प्रचारिणी सभा, हिंदी साहित्य सम्मेलन, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, केन्द्रीय हिंदी निदेशालय 

(D) केन्द्रीय हिंदी निदेशालय, हिंदी साहित्य सम्मेलन, काशी नागरी प्रचारिणी सभा, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा

अनुक्रम-

1. काशी नागरी प्रचारिणी सभा- 1893 ई.

2. हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग- 1910 ई.

3. दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा चेन्नई- 1915 ई.

4. केन्द्रीय हिंदी निदेशालय- 1960 ई.

 

9. स्थापना के आधार पर इन हिंदी संस्थाओं का सही अनुक्रम कौन-सा है? (जून, 2013, II)

(A) काशी नागरी प्रचारणी सभा, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा, साहित्य अकादमी 

(B) हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा, साहित्य अकादमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा

(C) राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा, साहित्य अकादमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग

(D) साहित्य अकादमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा

अनुक्रम-

1. काशी नागरी प्रचारिणी सभा- 1893 ई.

2. हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग- 1910 ई.

3. राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा- 1936 ई.

4. साहित्य अकादमी- 1954 ई.

 

10.  नवजागरण कालीन सुधारवादी संस्थाओं की शुरुआत का सही क्रम कौन-सा है? (जून, 2012, II)

(A) ब्रह्म समाज, प्रार्थना समाज, आर्य समाज, रामकृष्ण मिशन 

(B) रामकृष्ण मिशन, आर्य समाज, ब्रह्म समाज, प्रार्थना समाज

(C) प्रार्थना समाज, आर्य समाज, रामकृष्ण मिशन, ब्रह्म समाज

(D) आर्य समाज, ब्रह्म समाज, प्रार्थना समाज, रामकृष्ण मिशन

अनुक्रम-

1. ब्रह्म समाज (राजाराम मोहन राय)- 1828 ई.

2. आर्य समाज (दयानंद सरस्वती)- 1875 ई.

3. प्रार्थना समाज (ए. पांडुरंग)- 1876 ई.

4. रामकृष्ण मिशन (विवेकानंद)- 1897 ई.

Quiz 12345678910111213141516, 17, 181920212223242526, 27282930313233343536373839404142434445464748495051525354555657585960616263646566676869707172737475767778798081

यह भी पढ़ें :

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

hindisarang.com पर आपका स्वागत है! जल्द से जल्द आपका जबाब देने की कोशिश रहेगी।

to Top